top of page
Araavat Logo
  • Ruk Jana Nahi
  • Ruk Jana Nahi

Ruk Jana Nahi

₹175.00 Regular Price
₹129.00Sale Price
Only 3 left in stock
  • ISBN: 9789388754781
  • Publisher: Westland
  • Language: Hindi
  • Author: Nishant Jain
  • Year in Print: 2019
  • Binding: Paperback

About the Book:

Ruk Jaana Nahin (रुक जाना नहीं).यह किताब प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले हिंदी मीडियम के युवाओं को केंद्र में रखकर लिखी गई है।इस किताब में कोशिश की गई है कि हिंदी पट्टी के युवाओं की ज़रूरतों के मुताबिक़ कैरियर और ज़िंदगी दोनों की राह में उनकी सकारात्मक रूप से मदद की जाए। इस किताब के छोटे-छोटे लाइफ़ मंत्र इस किताब को खास बनाते हैं। ये छोटे-छोटे मंत्र जीवन में बड़ा बदलाव लाने की क्षमता रखते हैं।इस किताब की कुछ और ख़ासियतें भी हैं। इसमें पर्सनैलिटी डेवलपमेंट के प्रैक्टिकल नुस्ख़ों के साथ स्ट्रेस मैनेजमेंट, टाइम मैनेजमेंट पर भी विस्तार से बात की गई है। चिंतन प्रक्रिया में छोटे-छोटे बदलाव लाकर अपने कैरियर और ज़िंदगी को काफ़ी बेहतर बनाया जा सकता है। विद्यार्थियों के लिए रीडिंग और राइटिंग स्किल को सुधारने पर भी इस किताब में बात की गई है। कुल मिलाकर किताब में कोशिश की गई है कि सरल और अपनी-सी लगने वाली भाषा में युवाओं के मन को टटोलकर उनके मन के ऊहापोह और उलझनों को सुलझाया जा सके।इस मोटिवेशनल किताब में असफलता को हैंडल करने और सफलता की राह पर बढ़ते जाने कुछ नुस्ख़े भी सुझाए हैं। ऐसे 26 युवाओं की सफलता की शानदार कहानियाँ भी उन्हीं की ज़ुबानी इस किताब के अंत में शामिल हैं, जिन्होंने तमाम प्रतिकूलताओं के बावजूद ‘रुक जाना नहीं’ का मंत्र अपनाकर सफलता की राह बनाई और युवाओं के प्रेरणास्त्रोत बने।Dehaati Ladke.This is story of a countryside boy rajat, who fresh from village schools comes to the happening capital city of lucknow for his higher education. High aspira¬tions to become an officer, raw manners and slight desi pan in his etiquettes, he struggles his way out in the polished surrounding of college. The city and College starts to absorb him and he tries to adapt to the ways of the city. In the turns of events he meets a refined classy girl & 2 opposite nature boys. Their friendship pangs well and some interesting things start to happen. With passing of time, A mix of pressure for career, the girl turning practical and a misunder¬standing with the friends leads their ways apart. Then the boy realises that this world is not so fair and unless he proves his metal, he will always be an outsider, ‘a dehati ladka’ for the city. In his struggle a new girl supports him, and he goes on to become an Income Tax officer, Govt of India. But has the first girl moved on or she is still practical ? Will the misunderstanding give way to their reunion?

      RAKSHITH K

      GREAT

      GOOD

      ​I इस पुस्तक की अनुशंसा करते हैं

      Sahil Yadav

      Thanks to araavat

      Firstly I thought it is fake site but then also I ordered . Books are awesome. Genuine price and books .
      Thank You aaravat . You can purchase book from here

      ​I इस पुस्तक की अनुशंसा करते हैं

      Lokesh

      Loved it.....

      I purchased it from there offline store. The packaging was awesome and the books are 100% genuine.

      ​I इस पुस्तक की अनुशंसा करते हैं

      Mahesh Ghule

      How to track book order

      I have ordered these books but how to track the order. No message received so far.

      ​I इस पुस्तक की अनुशंसा करते हैं

      Write a Review

      Customer Reviews:

      ​Thanks for submitting a review! 😘

      Load More

      Fastest

      Delivery

      ​Genuine

      Books

      Lowest

      Price

      <a href="https://www.flaticon.com/free-icons/best-price" title="best price icons">Best price icons created by Freepik - Flaticon</a>
      <a href="https://www.flaticon.com/free-icons/truck" title="truck icons">Truck icons created by Pixel perfect - Flaticon</a>
      bottom of page